देश का वो इलाका जहां धरती पाताल में समा रही हैं ।

100 साल से क्यों सुलग रहा #Jhakhand का शहर ‘झरिया’, जहां धरती के नीचे है आग का दरिया

Jharia Burning 100 Years
Jharia Burning 100 Years

झारखंड के धनबाद ऐसा जिला हैं जो कोयले की खान के लिए जाना जाता है। यहां पर झरिया एक ऐसा शहर है जहां पर सबसे अधिक मात्रा में अच्छी क्वालिटी का कोयला पाया जाता है। पुरे झारखंड में सबसे अधिक कोयला इसी स्थान पर पाया जाता है। इसी झरिया से पुरे वर्ल्ड में कोयला निर्यात किया जाता हैं । पुरे देश में उद्योगों के लिए कोयला यही से जाता हैं ।

इस कोल् फायर एरिया में जमीन 100 सालों से आग से धधक रही है। इसकी वजह से वहां के स्थानीय लोगों के स्वास्थ्य पर भी काफी बुरा असर पड़ रहा है। स्थानीय लोग इससे बहुत परेशां हैं और यहाँ के प्रदुषण के चलते लोग बीमार हो रहे हैं । पिने का पानी भी साफ़ नहीं आता हैं ।

Jharia Like Hell
Jharia Like Hell

स्थानीय लोगों का कहना है कि- जब इस इलाके में बारिश होती है तब कोयले का काला विषैला पानी हमारे घरों के अंदर आ जाता है इसके साथ काफी जहरीला धुंआ भी घरों के अंदर आ जाता है जिससे सांस लेने में काफी परेशानी होती है। जमीन के अंदर 24 घंटे आग लगे रहने के कारण जमीन के धंसने का भी खतरा हर वक्त बना रहता है।

बारिश में बढ़ती जमीन की दहक

बारिश शुरू होने के साथ ही झरिया की जमीन की दहक और बढ़ जाती है। जमीन से निकल रहीं गैसें हवा को जहरीला बना रहीं हैं। राजापुर, लिलोरी पथरा, बस्ताकोला, घनुडीह, इंदिरा चौक, बरारी समेत कई इलाके हैं जहां भू-धंसान और गोफ की घटनाएं लोगों की जिंदगी का हिस्सा बन चुकी हैं। बारिश होने के बाद यहाँ की ज़िन्दगी नर्क के सामान हो जाती हैं । लोग चाहते हैं कि वो अच्छी और सेफ जगह में रहे ताकि वो बेचैन होकर ज़िन्दगी जी सकें ।

विशेषज्ञों की मानें तो भूमिगत आग के कारण कोयला राख हो जाता है। ऐसे में जमीन खोखली होने पर धंस जाती है। एक अन्य कारण भी है। कोयला निकालने के बाद खाली स्थान पर बालू नहीं भरी गई। बारिश के कारण पानी जमीन में प्रवेश करता है। पानी से मिट्टी कटाव के कारण धंसान हो जाता है। अवैध खनन ने इस समस्या को और भी बढ़ाया है।

Watch how Jharia, A city of Jharkhand, is sitting on an inferno for 100 years | Exclusive

Related Post:

Jharia Has Been Burning For 100 Years

The Most Polluted City 2020 : Jharia : झरिया देश का सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर

Jharia Master Plan – Dealing With Fire, Subsidence & Rehabilitation

Jharia Coal Mines and Pollution Control

Drones to map underground fires

Published by

R K Gupta

Hi, I am Ravi kumar, A Blogger from Indian(Jharia Region), an IT professional and Entrepreneur. I have written many articles yet for my websites gsesoftsolutions.com and started Jharia.in to provide information on Jharia which is my native place. Hope you like it. Kindly subscribe our feed for any updates. Website - Twitter - Facebook - Pinterest - YouTube

One thought on “देश का वो इलाका जहां धरती पाताल में समा रही हैं ।”

Comments are closed.